cholostrol how to control eassily through home remedies know hindi / कोलोस्ट्रोल को आसानी से होम रेमेडीज के द्वारा कैसे नियंत्रण करे

Cholostrol how to control through home remedies know hindi / कोलोस्ट्रोल को आसानी से होम रेमेडीज के द्वारा कैसे नियंत्रण करे

कोलोस्ट्रोल जो दिल के लिए ठीक नही है वह एक तरह से  दिल का  शत्रु है कोलोस्ट्रोल दिल के समस्त रोगों  की जड़ है यह दो तरीके का होता है एक गुड कोलोस्ट्रोल और दूसरा बैड कोलेस्ट्रॉल । कोलोस्ट्रोल की मानव शरीर को जरूरत होती है जो उत्तको का मानव शरीर में निर्माण करता है। कोलोस्ट्रोल  एक तरीके का फैट होता है जिसका निर्माण लीवर करता है इसलिए कोलोस्ट्रोल से घबराना नही चाहिए वल्कि होम रिमोड्से के जरिए उनका इलाज  करना चाहिए। कोलोस्ट्रोल का नियंत्रण जरूरी है  अगर समय पर इसको काबू नही किया तो बाद में दिक्कत का सामना करना पड़ता है इसलिए कोशिश कीजिए की अपनी कुछ आदतों को ठीक कीजिए जिससे की कोलोस्ट्रोल नही पढ़े जैसे  की तेल और घी जैसे चिकनाई युक्त  चीजों से  दूरी बना लीजिए  या इन चीजों को किसी भी रूप से इस्तेमाल कम  कीजिए  या ये कह सकते है की इनका जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करने से लीवर  जरूरत से ज्यादा फैट बनाने लगता है जिसके कारण यह फैट हमारी खून की नालियों में जमने लगता है जिस कारण हमारे शरीर में खून  का संचार ठीक से नही हो पाता है । इसलिए ऐसी कोशिश नही करे की ये नोबत आए। 

What to do to Control cholostrol / कोलोस्ट्रोल को नियंत्रण के लिए क्या करे
कोलोस्ट्रोल को नियंत्रण के लिए प्लांट फूड खाने चाहिए जैसे हरी सब्जियां ,गाजर ,मूली ,लोकी, टिंडा, फुलगोभी, बंधा गोभी, बीन्स,टमाटर,करेला जैसी चीज खानी चाहिए। अगर इन चीजों को खाते है तब कोलोस्ट्रोल पूरी तरह से नियंत्रण में रहेगा। दूसरी चीज अपने भोजन में चीनी को सीमित कीजिए। कोशिश कीजिए की चीनी जितनी कम हो उतना अच्छा है। तीसरी चीज कोलोस्ट्रोल को नियंत्रण के लिए डेयरी प्रोडक्ट का सीमित सेवन करे। डेयरी प्रोडक्ट की मात्रा को सीमित करे जैसे दूध एक गिलास की जगह आधा गिलास ही पीना चाहिए। दही थोड़ी मात्रा में खा सकते है । घी का सेवन बिल्कुल बंद। चौथी चीज कोलोस्ट्रोल के नियंत्रण के लिए  अदरक ,लहसुन, कालीमिर्च ,दालचीनी का  प्रयोग अपने भोजन में प्रयोग करे । तब देखे  कैसे आपका कोलोस्ट्रोल बढ़ता है। अदरक दालचीनी काली मिर्च की चाय रोजाना पी सकते है लेकिन इसमें नींबू जरूर डाले। ये हर्ब की तशीर गर्म होती है जिसको विटामिन सी काफी हद तक नियंत्रण में रखता है। 

What benefits fruits in cholostrol / कोलोस्ट्रोल को नियंत्रण में फल का क्या योगदान

कोलोस्ट्रोल को नियंत्रण के लिए फलों का अहम योगदान है । जिन लोगो को।कोलोस्ट्रोल बढ़ने की समस्या है या जिनको नही भी है उनको भी भोजन से पहले फलों का सेवन कीजिए। खट्टे फल विटामिन सी से भरपूर होते है जो कोलोस्ट्रोल को नियंत्रण में रखते है। खट्टे फलों में बेरीज, नींबू, मौसमी , अवाकडो, सेब, नासपति, चेरिज ,आम , अनार, जैसे फल खा सकते है लेकिन ध्यान रहे जब भी ये फल खाए उस दौरान मिल्क प्रोडक्ट खाने से बचे। यदि फलों में आम में मिल्क मिला कर मिल्क सेक बना सकते है। अगर मिल्क पीते ही फल का सेवन करने से गैस बनने का डर रहता है जो पेट को भारी कर देता है। हमारे ब्लॉक पसंद आते है तो हमको फॉलो जरूर करे।


Previous
Next Post »